Sunday, September 28, 2014

JEETU PAHALWAN AT - BHAINSWAL VILLAGE AKHADA- MUJAFFAR NAGAR U.P.


JEETU PAHALWAN AT -  BHAINSWAL VILLAGE AKHADA- MUJAFFAR NAGAR U.P.

इस वीडियो में गाँव भैंसवाल, उत्तर प्रदेश के देवराज पहलवान अपने अखाड़े में बच्चों को कुश्ती सीखा रहे हैं।  आज के दिन जीतू अपने पिता जी राजिंदर पहलवान , खलीफा हरपाल व् बड़ौत उत्तर प्रदेश अखाड़े के मास्टर रघुबीर के साथ अखाड़े पर आये हैं।  मास्टर रघुबीर बच्चों को कुछ दांव पेंच सिखाते हैं।  सब देवराज पहलवान को नया अखाडा शुरू करने पर बधाई देते हैं।  देवराज पहलवान अभी आर्मी से रिटायर हुए हैं , वे आर्मी में सैनिकों को कुश्ती सिखाया करते , गाँव आने पर उन्होंने मीटिंग की और गाँव के लोगों ने उन्हें अखाडा खोलने व् दंगल करवाने कि अनुमति और सहमति दी।  वाकई पूरे गाँव के समर्थ लोगों की वजह से देवराज पहलवान ने एक बेहतरीन दंगल करवाया और अखाड़े की शुरुआत की।  भैंसवाल गाँव की पंचायत और निवासियों को इस नेक काम के लिए बधाई।  

In this video Devraj Pahlwan ( in trousers) is teaching his students the art of wrestling. Jeetu Pahalwan his father Rajinder Pahlwan and  guru Raghubir of Badot and a Nai came to see Devraj Pahlwan's Akhada, Master Raghubir gave a few tricks and demonstrated a few Kushti technique for the benefit of the wrestlers. 
Devraj Pahlwan belongs to the respected Jat community of Mujjafar Nagar , U.P. In this village the head of the Mahapanchayat ( the head of the clan of the Jat community) also lives. Devraj pahlwan has just retired from armed forces where he used to teach the art of wrestling to the soldiers. After retirement the idea of establishing a wresting school came to his mind. He organised a meeting of the villages who permitted him to start an Akhada at the abandoned building premises nearby. In the meeting Devraj Pahlwan also proposed to organise a wrestling competition which was also agreed upon. The villagers wanted to organise the competition for two days instead.